आमजन के लिए आमजन द्वारा

भीलवाड़ा में आर्ट गैलेरी के लिए 1 लाख 11 हजार रूपए देने की घोषणा

श्रीलाल जोशी कला के अमृत कलश है - चौधरी

8

भीलवाड़ा – शहर में पिछले 25 वर्षो से आर्ट गैलेरी का निर्माण न होने तथा कलाकारों से संगठित होकर कला के प्रति समर्पित होने का आव्हान करते हुए कहा कि कलाकार अगर ठान लेवे तो निश्चित रूप से भीलवाड़ा में आर्ट गैलेरी का निर्माण हो सकता है। इसके लिए कलाकारों को कला के प्रति अपनी समर्पित भावना के अनुरूप ही निर्माण कार्य को अपने हाथ में लेना होगा। भीलवाड़ा शहर में आर्ट गैलेरी बनाने के लिए श्री नवग्रह आश्रम मोतीबोर का खेड़ा के संस्थापक संचालक व प्रसिद्ध रंगकर्मी हंसराज चौधरी ने अपनी ओर से 1 लाख 11 हजार रूपए देने की घोषणा की है।

चौधरी ने यह घोषणा मंगलवार को भीलवाड़ा के पदमश्री स्व. श्रीलाल जोशी स्मृति कला प्रदर्शनी के उद्घाटन समारोह में की है। प्रदर्शनी का उद्घाटन प्रख्यात चित्रकार जयपुर के चिन्मय मेहता, कला समीक्षक उदयपुर के डॉ. महेंद्र भाणावत, प्रख्यात लघु शैली चित्रकार पदमश्री एस शाकीर अली, टेक्सटाइल डिजाइनर पदमश्री रामकिशोर डेरावाला तथा राष्ट्रपति पुरूस्कार प्राप्त फड़ चित्रकार शिल्पगुरू प्रदीप मुखर्जी, कल्याण जोशी के सानिध्य में समारोह पूर्वक किया गया। पदमश्री स्व. श्रीलाल जोशी को देश व दुनियां का ख्यातनाम फड़चित्रकार बताते हुए हंसराज चौधरी ने कहा कि कला को निखारने के लिए हर स्तर की कार्यशालाओं का आयोजन सतत रूप से होना चाहिए। उन्होंने कहा कि श्रीलाल जी कला के क्षेत्र में देश के अमृत कलश है। उनकी स्मृति को चिरस्थायी बनाने के लिए उन्होंने मौजूद कलाकारों से नवग्रह आश्रम में चित्रकला के लिए कार्यशालाओं का आयोजन करने का आव्हान करते हुए कहा कि वहां होने वाले समस्त खर्च का वहन भी वो करेगें।

समारोह में हंसराज चौधरी ने कहा कि भीलवाड़ा में आर्ट गैलेरी बनने की बात लंबे समय से सुनते आ रहे है। इसका कार्य होना ही चाहिए। किन कारणों से निर्माण नहीं हो पाया, इसकी तह में जाने के बजाय कलाकारों को निष्ठा से इस कार्य को करना होगा। आर्ट गैलेरी के निर्माण के लिए अपनी ओर से 1 लाख 11 हजार रूपए देने की घोषणा करते हुए इस कार्य को प्राथमिकता से सभी को मिलकर कराना चाहिए। चौधरी ने कहा कि समारोह में मोजूद सभी कलाकार अगर सहमति देवे और किन्ही कारणों से भीलवाड़ा में इसका निर्माण संभव नहीं होता है तो वो अपनी ओर से आर्ट गैलेरी का निर्माण नवग्रह आश्रम परिसर में भी बनाने को तैयार है जिसका उपयोग सभी कलाकार कर सकेगें।

चौधरी ने केंसर रोगियों का वानस्पतिक चिकित्सा पद्धति से आश्रम में प्रति सप्ताह तीन हजार रोगियों के किये जा रहे उपचार की विस्तार से जानकारी देते हुए कहा कि आज भारत वर्ष के केंसर रोगियों में से 11 प्रतिशत केंसर रोगी आश्रम पहुंच रहे है जो देश का रिकॉर्ड है। इसमें से ठीक होने वाले मरीजों की संख्या 77 प्रतिशत है। चौधरी ने समारोह में मौजूद सभी अतिथियों व कलाकारों को आश्रम की आयुर्वेद पर पुस्तक आयुष्मान भव भी भेंट की।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com