आमजन के लिए आमजन द्वारा

दलित दुल्हे को घोड़ी से उतारने वालों के खिलाफ कार्यवाही की मांग को लेकर दिया ज्ञापन

दलित संगठनों के पदाधिकारियों ने एसडीएम को दिया ज्ञापन

44

मुबारिक अजनबी/आमेट/राजसमन्द – भीलवाड़ा जिले की रायपुर तहसील के चारोट गांव में एक सप्ताह पूर्व दलित दूल्हे की बिन्दौली के दौरान कुछ लोगों ने बिन्दौली को रूकवाते हुए दुल्हे को घोड़ी से नीचे उतार दिया गया था। वहीं दुल्हे के पक्ष के लोगों के साथ मारपीट भी की गई। इस घटना का विरोध करते हुए आज आमेट के दलित संगठनों के पदाधिकारियों ने बिन्दौली रोकने, दुल्हे को घोड़ी से नीचे उतारने व मारपीट करने वाले आरोपियों के खिलाफ कानूनी कार्यवाही की मांग के साथ गिरफ्तारी की मांग को लेकर मुख्यमंत्री के नाम लिखा एक ज्ञापन एसडीएम कालुराम खोड को दिया।

डॉ. भीमराव अम्बेडकर युवा संगठन आमेट, सरदारगढ़, भीम सेना, बहुजन समाज पार्टी के कुंभलगढ़ विधानसभा क्षेत्र के कार्यकर्त्ताओं व बहुजन संघर्ष समिति आमेट, अम्बेडकर विचार मंच शाखा जिलोला के नारायण लाल सालवी, शांति लाल, चेतन कुमार, मनोहर लाल खटीक, राजु रेगर, ललित रेगर, हुक्म लाल, सुरेश चंद आदि ने बताया कि 11 दिसम्बर 2018 को दलित दुल्हे श्रवण रेगर की ग्राम चारोट में बिंदोली निकल रही थी। तभी गांव के कुछ कतिपय लोगों ने बिन्दौली का विरोध किया व दुल्हे को घोड़ी से नीचे उतार दिया तथा उसके साथ मारपीट कर पत्थर व ईट्टों से हमला कर दिया था। बताया गया कि जब दुल्हे की निकासी हो रही थी तब पुलिस प्रशासन मौजूद था। उस दौरान भी आरोपियों ने लाठियों से हमला बोल दिया था। घटना में लिप्त आरोपियों के विरूद्ध सख्त कार्यवाही की मांग को लेकर दलित संगठनों ने रायपुर में तहसीलदार को ज्ञापन भी दिया था परन्तु आज तक आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं हो सकी है। ज्ञापन में आरोपियों की शीघ्र गिरफ्तारी की मांग की गई।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com