आमजन के लिए आमजन द्वारा

विकास के मुद्दे पर बहस करने की हिम्मत खो चुकी है कांग्रेस – मोदी

19

अलवर – राजस्थान के अलवर में चुनावी रैली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस पर जमकर हमला बोला। मोदी ने अयोध्या का जिक्र करते हुए कहा कि कांग्रेस न्याय प्रक्रिया में दखल देती है। मोदी ने कहा कि कांग्रेस नेताओं ने ही सुप्रीम कोर्ट में राम मंदिर पर सुनवाई टालने को कहा था। गौरतलब है कि कांग्रेस नेता और सीनियर वकील कपिल सिब्बल ने सुन्नी वक्फ बोर्ड की तरफ से पेश होते हुए सुप्रीम कोर्ट में 2019 चुनाव तक मंदिर मुद्दे पर सुनवाई टालने की अपील की थी। पीएम मोदी यहीं नहीं रुके उन्होंने कांग्रेस पर जातिवाद फैलाने का आरोप भी लगाया। मोदी ने कहा कि कांग्रेस में विकास पर बात करने की हिम्मत ही नहीं, इसलिए चुनाव में मोदी की जाति को मुद्दा बनाया जा रहा है। मोदी ने अपनी रैली में कहा कि जब अयोध्या का केस चल रहा था, कांग्रेस के नेता और राज्यसभा सांसद ने कहा था कि 2019 तक केस मत चलाओ, क्योंकि 2019 में चुनाव है।

 

देश के न्यायतंत्र को इस तरह राजनीति में घसीटना ठीक है क्या ?

पीएम ने कहा, ’जब सुप्रीम कोर्ट का कोई जज अयोध्या जैसे गंभीर संवेदनशील मसलों में देश को न्याय दिलाने की दिशा में सबको सुनना चाह रहे थे तो कांग्रेस के राज्यसभा सांसद और वकील सुप्रीम कोर्ट के न्यायमूर्तियों के खिलाफ महाभियोग लाकर उन्हें डरा धमका रहे थे। कांग्रेस ने अब न्यायमूर्तियों को डराने-धमकाने का नया खेल शुरू किया है।’

कांग्रेस पर जातिवाद का लगाया आरोप
प्रधानमंत्री ने जनसमूह से पूछा, ’क्या मोदी के कहीं पैदा होने से राजस्थान का भविष्य प्रभावित होता है ? जातिवाद के जहर को कांग्रेस आज भी छोड़ नहीं पाई है। बोलने का मौका आता है तो कांग्रेस के रागदरबारी चुप हो जाते हैं। कांग्रेस का मूल स्वभाव उनकी वाणी व स्वभाव में झलकता है।’ उन्होंने कहा, ’ये जातिवाद में डूबे हुए लोग हैं। गरीबों, दलितों और शोषितों के प्रति नफरत का भाव कांग्रेस की रगों में भरा पड़ा है। कांग्रेस के दिग्गज नेता बाबा साहब के समय से गलत भाषा का प्रयोग करते रहे हैं।’ पीएम ने कहा, ’बाबा साहब भीमराव आंबेडकर को भारत रत्न न देने को कांग्रेस की जातिवादी मानसिकता बताते हुए कहा कि जातिवाद का जहर कांग्रेस की रगों में भरा है। पीएम ने कहा कि जब भारत का यह नेता विदेश जाता है तो दुनिया को उसकी जाति नहीं, सवा सौ करोड़ हिंदुस्तानी दिखते हैं।

पीएम मोदी ने कहा, ’2013 में अलवर से शुरुआत की थी और आज फिर अलवर से राजस्थान चुनाव यात्रा शुरू कर रहा हूं। यहां का नजारा देखकर दिल्ली के एसी कमरों में बैठे लोग देख लें कि हवा का रुख क्या है। मैंने देखा है कि देश का नौजवान और हर नागरिक एक मंत्र के साथ यह चुनाव देख रहा है और वह मंत्र विकास का है।’ उन्होंने कहा, ’हर कोई पिछली सरकार को याद करके बीजेपी की यात्रा को आशीर्वाद दे रहा है। अलवर की धरती गौरव की है और अहंकार को चूर-चूर करने वाली धरती है। नामदारों का अहंकार अलवर चकनाचूर कर देगा।’

’विकास के मुद्दों पर बहस करने की हिम्मत खो चुकी है कांग्रेस’
जातिवाद का आरोप लगाते हुए पीएम ने कहा, ’आज कांग्रेस पार्टी इतनी नीचे गिरती जा रही है कि उन्होंने राजनीति के संस्कार छोड़ दिए हैं। अब वह विकास के मुद्दों पर बहस करने की हिम्मत भी खो चुके हैं। कांग्रेस में हिम्मत हो तो वसुंधरा के कार्यकाल को और उनके काम को चुनौती देकर मैदान में आए, लेकिन उनकी पिछली सरकार के पांच साल का हिसाब इतना बुरा है कि राजस्थान सरकार के काम याद करने की भी इनकी हिम्मत नहीं है।’ उन्होंने कहा, ’जब आपके पास कोई विजन या तर्क न हो तो चुनाव का मुद्दा बन जाता है कि मोदी की जात कौन सी है ? आप इसके आधार पर वोट करेंगे क्या ?’

बाबा साहब को भारत रत्न न मिलने पर सवाल
भारत रत्न को लेकर पीएम ने कहा, ’बाबा साहब आंबेडकर को भारत रत्न मिलना चाहिए था, लेकिन कांग्रेस को भारत रत्न देने की याद नहीं आई, यह कांग्रेस की जातिवादी मानसिकता है। एक ही परिवार के चार लोगों को भारत रत्न देकर दीवार पर चिपका दिए गए और इन्हें बाबा साहब की याद नहीं आई।’ उन्होंने कहा, ’यह कांग्रेस की जातिवादी मानसिकता है। मंडल कमीशन के खिलाफ राजीव गांधी ने जिस भाषा का प्रयोग किया था, वह आज भी संसद में गूंजती रही है।’

’बोले कोई भी, बुलवाने वाला नामदार है’
पीएम मोदी ने कहा, ’जब हम मंडल कमीशन को संवैधानिक दर्जा देने के लिए संसद लाए तो इसी कांग्रेस ने हर तरह के रोड़े अटका दिए। बड़ी मुश्किल से हम उस बिल को पास करवा पाए। कोई कांग्रेस नेता मेरी मां को गाली दे, कोई मेरी जात पूछे, मुझे फर्क नहीं पड़ता। बोलने वाला कोई भी हो, बुलवाने वाला नामदार ही होता है।’ उन्होंने कहा, ’जब गुजरात चुनाव हुआ तो वहां भी मेरी जाति पर हमला बोला गया। पहले लोगों को दूर किया गया, फिर गले लगाया गया।’

संतों ने देश को जोड़ा-कांग्रेस ने तोड़ा
दल से बड़ा देश बताते हुए पीएम ने कहा, ’दलितों के खिलाफ सबसे बड़े नरसंहार कांग्रेस सरकार में ही हुए हैं। 2010 में हरियाणा के मिर्चीपुर में दलितों के खिलाफ हिंसा हुई, 2005 में सोनीपत में दलितों के खिलाफ कार्रवाई हुई, इसको भुलाया नहीं जा सकता है। कांग्रेस से हमारे संस्कार और हमारे देश की परंपरा अलग है। हमारे देश के संत-समाज ने इस देश को जोड़ा है और कांग्रेस वालों ने इस देश को तोड़ा है।’ पीएम ने इस बात के साथ संत कबीरदास का एक दोहा भी सुनाते हुए कहा कि सब एक जैसे हैं और व्यक्ति अपने व्यवहार के आधार पर अलग हो जाता है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com