आमजन के लिए आमजन द्वारा

किसानों ने फूंका सहकारिता मंत्री का पुतला

96
âéÙðÜ ×ð´ âæð×ßæÚU ·¤æð »ÕÙ ·ð¤ ¥æÚæðÂè »ýæ× âðßæ âãU·¤æÚUè âç×çÌ ·ð¤ ÃØßSÍæ·¤ ÚUæÁð‹Îý ·é¤×æÚU Ùæ»ÚU ·¤æð ç»ÚUÌæÚU ·¤ÚUÙð ·¤è ×´æ» ·¤æð Üð·¤ÚU ÌãUâèÜ ·¤æØæüÜØ ·ð¤ ÕæãUÚ âãU·¤æçÚUÌæ ×´˜æè ·¤æ ÂéÌÜæ ÁÜæÌð ãéU°U ç·¤âæÙÐ

सौरभ जैन/सुनेल/झालावाड़ – कस्बे के किसानों ने तहसील कार्यालय के बाहर प्रदर्शन कर सहकारिता मंत्री का पुतला फूंका व धरना दिया। गौरतलब है कि ग्राम सेवा सहकारी समिति सुनेल के व्यवस्थापक राजेन्द्र कुमार नागर द्वारा किसानों के साथ लापरवाही, अनियमिताएं कर दस लाख नो सौ उनचालीस रूपए का गबन किया है जिसकी किसानों द्वारा 18 जुलाई को सुनेल थाने में मुकदमा दर्ज करवाया था लेकिन करीब 25 दिन बीत जाने के बाद भी अभी तक प्रशासन द्वारा कोई कार्रवाई नही करने से नाराज किसानों ने सोमवार को सुबह 10 बजे तहसील कार्यालय के बाहर एकत्रित होकर धरना पर बैठ गए व राज्य सरकार व स्थानीय प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी कर प्रदर्शन किया वही सहकारिता मंत्री का पूतला फूंका।

धरने की सूचना मिलने पर करीब एक घंटे बाद पुलिस जाप्ता मौके पर पंहुचा और प्रदर्शनकारियों को समझाने की कोशिश की गई लेकिन किसानों ने धरना स्थल पर सहकारिता के प्रबन्ध निदेशक रविन्द्र कुमार पुरोहित को बुलाने की मांग की जिस पर साढ़े चार घंटे के बाद प्रबन्ध निदेशक पुरोहित तहसील कार्यालय पर पंहुचे। जंहा प्रबन्ध निदेशक पुरोहित, तहसीलदार भारत सिंह ने किसानों का एक प्रतिनिधि मंडल से वार्ता की जिसमें किसानों ने व्यवस्थापक नागर द्वारा किये गए गबन के मामले की पूरी जानकारी देते हुए बताया कि 2014-15 में फसल खराबा राशि में सैकड़ों किसानों का लाखों रूपयों का फर्जी वाउचर व फजी हस्ताक्षर कर भुगतान उठा लिया कई मृतक किसानों का बीमा क्लेम भी स्वंय ने फर्जी हस्ताक्षर कर उठा लिया, वर्षो से सरकारी दस्तावेजों में गड़बड़ी कर रहा था जिसकी पूरी जानकारी दी।

जिस पर प्रबन्धक निदेशक पुरोहित ने कंहा कि मेने इसके लिए जांच कमेटी गठित कर जो जांच कर रही है शीघ्र ही जांच रिपोर्ट आने के बाद उचित कार्रवाई की जाएगी वही जिन किसानों के साथ अगर धोखा भी हुआ है तो उन्हे पूरी राशि दी जाएगी। प्रदर्शनकारी जनपद इन्द्रसिंह सिसौदिया,कैलाश गुर्जर, बद्रीचंद कारपेंटर, इकबाल हुसैन, श्याम गुर्जर, बद्री शर्मा, तेजसिंह सिसौदिया, बलराज जयपुरी, दौलतसिंह सिसौदिया, महेन्द्र सिंह, रामचन्द्र गुर्जर, राधेश्याम, विष्णु राठौर, गिरिराज व्यास, रामलाल, मनोहरसिंह, अनिल बैरागी, कमलेश कुमार, नन्दकिशोर, प्रभूलाल, हेमराज जयपुरी, रमेशचंद नागर आदि शामिल थे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com