आमजन के लिए आमजन द्वारा

खेतों पर झोपड़ी बनाकर रखवाली कर रहे किसान

कड़ाके की ठंड में खेतों पर रहकर रखवाली कर रहे किसान

22

पदम गोस्वामी/देवरी/ बारां – कस्बे सहित समूचे शाहाबाद उपखंड में सबसे अधिक रकबे में सरसों चना और गेहूं की फसलों की बुवाई किसानों द्वारा की गई थी। इन दिनों सरसो की फसल पकने के कगार पर है

सरसों की फसल फूल छोड़कर फली का रूप धारण करती जा रही है । जिसे जानवरों से बचाने के लिए ग्रामीण किसान अपने खेतों पर ही झोपड़ी बनाकर रात दिन खेतों की रखवाली करते नजर आ रहे हैं ।

इन दिनों पड़ रही कड़ाके की ठंड के बाद भी किसान अपने खेतों पर डटे हुए हैं। क्योंकि इस समय किसानों की फसलें अपने खेतों में पक रही है । इस समय सरसों और चने की फसलें फूल के बाद फली लगने के कगार पर हैं और किसानों की इस सबसे अधिक मेहनत की रवि की फसल को किसानों द्वारा जानवरों से बचाने के लिए कड़ी मशक्कत करनी पड़ रही है।

इस माह सबसे अधिक सर्दी का असर देखने को मिल रहा है । रात से लेकर सुबह तक घने कोहरे का असर देखने को मिलता है। इस कड़ाके की ठंड में भी किसान अपने खेतों पर रहकर फसलों की रखवाली करने में लगे हुए हैं।

किसान रघुवीर किशन राधे महेश सहित कई किसानों ने बताया कि रात दिन आवारा मवेशी खेतों में घूमते रहते हैं जो फसल को खाकर नुकसान पहुंचाते हैं क्षेत्र में आवारा मवेशियों पर लगाम लगाने के लिए कोनिगो भी नहीं है जिसके कारण किसानों को खेतों पर रहकर ही अपनी फसलों की रखवाली करनी पड़ रही है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com