आमजन के लिए आमजन द्वारा

मनोरंजन से रोगी स्वयं को जल्दी ठीक कर सकता है-चौधरी

संचिना कलाकारों की नवग्रह आश्रम में प्रस्तुति

26

मूलचंद पेशवानी/भीलवाड़ा – संचिना कला संस्थान की ओर से शाहपुरा में आयोजित संचिना समर कैंप मंचन 2018 के बाल कलाकारों ने शनिवार को रात में नवग्रह आश्रम मोतीबोर का खेड़ा में उपचार के लिए आने वाले मरीजों के मनोरंजन के लिए नाटकों की प्रस्तुति दी। आश्रम संचालक हंसराज चौधरी व संचिना अध्यक्ष रामप्रसाद पारीक की मौजूदगी में नवग्रह आश्रम में आयोजित नाट्य प्रस्तुति समारोह में संचिना के बाल कलाकारों ने प्रधानमंत्री के स्वच्छता अभियान का संदेश देते हुए समाज व शहर में हो रहे कचरे पर कटाक्ष किया। इसके बाद वरिष्ठ कलाकार दीपक पारीक ने अपनी मार्मिक प्रस्तुति से उपस्थित लोगों की संवेदनाओं को जागृत कर दिया। दीपक पारीक ने शराबी व शराब से होने वाले नुकसान को जानलेवा साबित करते हुए नाटक में जो जीवंत पात्रता की उसकी हर व्यक्ति ने तारीफ की।

संचिना अध्यक्ष रामप्रसाद पारीक व आश्रम संचालक हंसराज चौधरी ने भी मरीज व वैद्य का नाटक करते हुए इस बात का अहसास कराया कि वास्तव में रोगी का उपचार करने में आज भी संगीत, नाटक जैसे मनोरंजन कारगार साबित होते है। इनसे मरीज अपेक्षाकृत जल्दी ठीक हो सकता है। इस नाटक में पारीक, चौधरी व सत्येंद्र मंडेला ने पात्रता निभायी। हंसराज चौधरी ने बाद में सर्वे के आधार पर बताया कि इस प्रकार के असाध्य रोगी जब संगीत या मनोरंजन में डूब जाता है तो कुछ क्षणों के लिए ही सही वो रोग को तो भूल जाता है। ऐसा होने पर धीरे धीरे रोगी स्वयं को ठीक महसूस करने लगता है।

 

गीतकार व संचिना महासचिव सत्येंद्र मंडेला ने सभी का स्वागत करते हुए संचिना की गतिविधियों पर प्रकाश डाला और मनोरंजन के साथ अनुरंजन करते हुए राजस्थानी भाषा में अपनी काव्य रचना को प्रस्तुत कर खूब वाह वाह लूटी। संचिना के वरिष्ठ कलाकार राजकुमार बैरवा ने नवग्रह आश्रम की उपलब्ध सेवाओं की सराहना करते हुए कहा कि आज के भौतिकवादी युग में भी सनातन पद्वति से शत प्रतिशत उपचार किया जाना वो भी निःशुल्क काबिले तारीफ है।

संचिना उपाध्यक्ष मूलचन्द पेसवानी ने सभी आभार ज्ञापित करते हुए कहा कि संचिना बाल प्रतिभाओं को उजागर करने व नवग्रह आश्रम रोगियों का उपचार करने के साथ उनकी संवेदनाओं को जागृत करता है। संवेदनाओं के जागृत होने पर निश्चित रूप से सफलता मिलती है। शुरूआत में संचिना अध्यक्ष रामप्रसाद पारीक व आश्रम संचालक हंसराज चौधरी ने भगवान धनवंतरी की प्रतिमा के आगे दीप प्रज्जवलित कर कार्यक्रम का आगाज किया।

इससे पहले आश्रम संचालक हंसराज चौधरी ने संचिना के सभी कलाकारों को आश्रम में विजीट कराते हुए औषधीय पौधों के बारे में विस्तार से जानकारी दी तथा बच्चों की जिज्ञासाओं का समाधान किया। इस मौके पर संचिना नाट्य शिविर के प्रभारी गोपाल पंचोली, अधिवक्ता दीपक पारीक, सत्यव्रत वैष्णव, शिवप्रकाश जोशी ने भी विचार रखे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.