आमजन के लिए आमजन द्वारा

गल्यावड़ी भैरू जी व जैमंत माता के स्थान पर हुई भक्ति संध्याएं, दर्शन करने पहुंचने हजारों श्रद्धालु

79

दिनेश चौहान/गंगापुर/भीलवाड़ा – ‘माता जिनको याद करें वे लोग निराले होते हैं’ जैसे भक्ति भजन से गल्यावड़ी भैरुजी का पांडाल गूँज उठा। अवसर था नवरात्रि की अष्टमी पर भैरुनाथ मित्र मंडल गल्यावड़ी द्वारा आयोजित विशाल भजन संध्या का। भजन गायक नरेश प्रजापत, राजू रावल, श्रवण सेंदरी आदि ने भक्ति भजनों से भैरुनाथ के दरबार में हजारों महिला-पुरुषों को भोर तक बांधे रखा। नृत्यांगना माया अजमेरी, हन्सा रंगीली, ममता रंगीली, डांसर रमेश प्रजापत आदि के नृत्य ने दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया। गणपति, शिवशंकर, कृष्ण, हनुमान, बाड़िया माता आदि पर मधुर भजनों की प्रस्तुति ने खूब तालियां बटोरी।

इस अवसर पर गौसेवा आयोग, राजस्थान के सदस्य डालचंद कुमावत, न्यू राजस्थानी म्यूजिकल ग्रुप के राजस्थान प्रभारी चैनसुख जांगिड़, गौभक्त समाजसेवी लादुलाल पितलिया, भारत विकास परिषद के सचिव रमेशचंद्र वैष्णव, खेमाणा के वार्ड पार्षद मोतीलाल सोनी, गल्यावड़ी भैरुजी के भोपाजी गोपीलाल गुर्जर सहित हजारों महिला-पुरुष व युवक-युवतियां उपस्थित थे।

इसी तरह झड़ोल गांव के समीप स्थित जैमंत माता के दरबार में अष्टमी पर आयोजित 37वीं भजन संध्या में युवा बाल कलाकारा प्रेरणा माहेश्वरी भीलवाड़ा, भजन गायक नरेश प्रजापत, कैलाश लाछुड़ा आदि ने भक्तों को देर रात तक अपने भक्ति भजनों से बांधे रखा। जटाधारी ग्रुप दिल्ली के कलाकार लक्की व शालू ने महाकाल – भस्म आरती, बृज-रास सहित अनेक मनमोहक झांकियों से सबको भावविभोर कर दिया। मुख्य अतिथि क्षेत्रीय विधायक डॉ. बीआर चौधरी, विशिष्ट अतिथि पूर्व विधायक कैलाश त्रिवेदी, पूर्व भाजपा मंडल अध्यक्ष लादु लाल पितलिया, राजेंद्र त्रिवेदी, शिवराज सिंह, कुलदीप, रणदीप त्रिवेदी थे। क्षेत्र के समस्त शक्ति पीठों पर रात्रि जागरण हुए, जिसमें हजारों महिलाओं व पुरुषों ने हाजिरी लगायी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com