आमजन के लिए आमजन द्वारा

गोगुन्दा : बांदरवाड़ा के लोगों ने किया मतदान के बहिष्कार का ऐलान

14

गोगुन्दा/उदयपुर – आज गोगुन्दा विधानसभा क्षेत्र के बांदरवाड़ा गांव के लोगों ने आगामी 7 दिसम्बर को होने जा रहे विधानसभा चुनाव के मतदान के बहिष्कार का ऐलान किया है। आज ग्रामीणों ने गांव के चौक में बैठक की। बैठक के दौरान ग्रामीणों ने गांव में जाने की मुख्य सड़क, आंगनबाड़ी केंद व पेयजल की समस्या पर चर्चा की। ग्रामीणों ने निर्णय कर ऐलान किया कि जब तक समस्याओं का समाधान नहीं हो जाता तब तक वे मतदान नहीं करेंगे।

राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 27 पर भादवीगुड़ा गांव से महज डेढ़ किलोमीटर की दूरी पर स्थित है बांदरवाड़ा गांव। विकास के नाम पर यहां गांव में सीमेंट सड़क बनाने का कार्य धीमी गति से हाल ही में शुरू हुआ है। जिसकी बानगी गांव में जाते ही दिखाई पड़ती है, गांव के मोहल्ले में घटिया गिट्टी डालकर सीमेंट का निर्माण करवाया जा रहा है।

उल्लेखनीय है कि यह बड़गांव पंचायत समिति क्षेत्र की मदार ग्राम पंचायत का गांव है। इस गांव के एक तरफ डेढ़ किलोमीटर दूर भादवीगुढ़ा तो दूसरी ओर 3 किलोमीटर दूर मदार गांव है। गांव में जाने की सड़क तो दूर सही रास्ता भी नहीं है। बारिश के दिनों में यहां के लोगों को खासी समस्याओं का सामना करना पड़ता है। गांव के जालम सिंह ने बताया कि बारिश के दिनों में गांव से पैदल चलकर डेढ़ किलोमीटर दूर भादवीगुड़ा गांव में स्थित स्कूल तक पहुंचने में स्कूली बच्चों को भारी समस्या का सामना करना पड़ता है। दोनों गांवों के बीच एक बड़ा नाला पड़ता है, इसे नाले में पानी का बहाव अधिक होने पर कई बार स्कूली बच्चे 15-15 दिन तक स्कूल नहीं जा पाते है। यहां के लोग बीमार और गर्भवती महिलाओं को प्रसव के लिए अस्पताल ले जाने को सबसे बड़ी चुनौती मानते है।

400 से अधिक की आबादी वाले इस गांव में राजपूत व भील समुदाय के लोग रहते है। गांव में आंगनबाड़ी केंद्र नहीं होने के कारण गांव के परिवारों के 50 से अधिक छोटे बच्चे हर समय घर के आंगन में खेलते दिखाई पड़ते है। गांव में वर्तमान में 3 महिलाएं गर्भवती है, अभी तक एएनएम टीकाकरण के लिए नहीं पहुंची है। महिला एवं बाल विकास परियोजना के दावों के बीच इस गांव की धात्री व गर्भवती महिलाएं आंगनबाड़ी केंद्र की हर सेवा से वंचित है।

गांव के उदय सिंह, चमना लाल मेघवाल, लोगर लाल गमेती, बाबू लाल, राम सिंह, अम्बावी बाई, पुष्पा बाई सहित ग्रामीणों ने बताया कि भादवीगुड़ा से बांदरवाड़ा और मदार से बांदरवाड़ा तक सड़क बनाने, गांव में आंगनबाड़ी केंद्र खोलने व पेयजल उनकी प्रमुख मांगें है।

वर्तमान में विधानसभा चुनाव को देखते हुए जनप्रतिनिधियों के पुनः गांव में आकर वोट मांगने की स्थितियां बन रही है, ऐसे में ग्रामीणों ने जनप्रतिनिधियों के गांव में पहुंचने से पहले ही आज बैठक की, जिसमें उन्होंने 7 दिसम्बर को मतदान नहीं करने का निर्णय लिया।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com