आमजन के लिए आमजन द्वारा

कोई भी इस सरकार से खुश नहीं – राहुल गांधी

देश की गंगा-जमुनी तहजीब को नष्ट करने वालों का मुकाबला करेंगे - सोनिया

69

नई दिल्ली – जन आक्रोश रैली के जरिये कांग्रेस 2019 के चुनावों रणभेरी फूंक चुकी है। राजनीतिक जानकारों का कहना है कि इस रैली के जरिये बीजेपी समेत सभी विपक्षी पार्टियों को अपनी ताकत का अहसास करवाया है। जन आक्रोश रैली को सम्बोधित करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि पीएम मोदी जहां जाते हैं, वहां केवल वादे करते हैं तथा देश में हर जगह लोग इस सरकार से नाराज हैं। कोई भी इस सरकार से खुश नहीं है। पीएम के भाषण में सच्चाई नहीं होती। उन्होंने कहा कि नोटबंदी करके देश को लाइन में लगाया गया लेकिन नीरव मोदी पर पीएम ने कुछ नहीं कहा। कर्नाटक में पीएम भ्रष्टाचार की बातें करते हैं, वहीं खुद सीएम उम्मीदवार येदियुरप्पा जेल की हवा खा चुके हैं।

पीयूष गोयल पर निशाना साधते हुए कहा कि उनके मंत्री बनने के बाद भी वह अपनी कंपनी को डिक्लेयर नहीं करते, बाद में अपनी कंपनी को बेचते हैं लेकिन मोदी जी के मुंह से एक शब्द नहीं निकलता। आम तौर से जनता जज के पास न्याय के लिये जाती है, 70 साल में पहली बार हिन्दुस्तान में सुप्रीम कोर्ट के जज हाथ जोड़कर न्याय के लिये जनता के पास आते हैं लेकिन पीएम मोदी चुप हैं।

हिन्दुस्तान के हर संस्थान को नष्ट किया जा रहा है, देश में हर जगह आरएसएस के लोग डाले जा रहे हैं, हर मंत्री के ओएसडी आरएसएस के लोग हैं। राहुल ने कहा कि मोदी जी बोनस छीन गये, एमएसपी नहीं बढ़ाते और फिर भाषण में किसानों की बात करेंगे, अरुण जेटली जी कहते हैं किसानों का कर्जा माफ करना हमारी पॉलिसी नहीं है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी के बिना इस देश का किसान जी नहीं सकता। अगर कांग्रेस पार्टी खड़ी नहीं होती तो हिन्दुस्तान के किसान की सब जमीन नरेन्द्र मोदी छीनकर ले जाता।

राहुल ने कहा कि नरेन्द्र मोदी जी कहते थे ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’। हिन्दुस्तान के इतिहास में पहली बार विदेश में प्रधानमंत्री को मुंह पर बताया गया कि आप हिन्दुस्तान की महिलाओं की रक्षा नहीं कर रहे हो। दोकलम में चीन की सेना घुसी हुई है और हिन्दुस्तान के प्रधानमंत्री चीन में बिना एजेंडा चर्चा कर रहे हैं, दोकलम के बारे में हमारे प्रधानमंत्री ने चीन में एक शब्द नहीं कहा।

मोदी जी ने कहा था 70 साल में कांग्रेस ने कुछ नहीं किया, 60 महीने में मोदी जी ने क्या किया, बेरोजगारी दी, महिलाओं पर अत्याचार किया, अनौपचारिक क्षेत्र को खत्म किया, चीन के सामने मोदी जी खड़े नहीं हो पाये। आरएसएस और बीजेपी के लोग नफरत फैलाते हैं, हमने इस देश को जोड़ने का काम किया है।

2014 में आरएसएस और बीजेपी की मशीन ने झूठ फैलाया, हर जगह जाकर मोदी जी ने कांग्रेस पार्टी के बारे में झूठ फैलाया, अब सच्चाई बाहर आ रही है। हर राज्य में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने सत्ता के लिये नहीं सत्य के लिये जान दी। हम सत्य के साथ खड़े हैं जबकि नरेन्द्र मोदी जी सत्ता के पीछे छुपे हुए हैं। हम हिन्दुस्तान में लीडरशिप देना चाहते हैं, हम युवाओं को आगे लाना चाहते हैं और यही सोच हिन्दुस्तान को आगे लेकर जा सकती है।

कुछ ऐसे भी मंजर हैं तारीख की नजरों में, लम्हों ने खता की थी, सदियों ने सजा पायी – मनमोहन सिंह

जन आक्रोश रैली में पूर्व पीएम मनमोहन सिंह ने कहा कि चार साल पहले मोदी सरकार ने भारत की जनता से बहुत से वादे किये थे, जाहिर है उनमें से किसी वादों को भी पूरा करने में ये सरकार कामयाब नहीं रही। ये सरकार किसान विरोधी है, किसान कर्ज के नीचे दबे जा रहे हैं, हर तरफ से कर्ज माफ करने की आवाजें उठ रही हैं।

उन्होंने कहा कि मोदी सरकार अपने किसी भी वादे को पूरा नहीं कर पायी। चार साल पहले मोदी सरकार ने वादा किया था कि वो सरकार में आते ही मुल्क में 2 करोड़ से ज्यादा रोजगार के साधन उपलब्ध करायेंगे। हकीकत ये है कि देश में बेरोजगारी बढ़ रही है। दुनिया के दूसरे देशों में कच्चे तेल की कीमतें काफी नीचे आ गयी हैं फिर भी भारत में तेल की कीमतें तेजी से बढ़ रही हैं, जिससे लोगों को काफी परेशानी हो रही है। पूर्व पीएम ने एक शायरी का हवाला देते हुए कहा- कुछ ऐसे भी मंजर हैं तारीख की नजरों में, लम्हों ने खता की थी, सदियों ने सजा पायी।

जन आक्रोश रैली में कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी ने पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि ‘न खाऊंगा और न खाने दूंगा’ के नारे का क्या हुआ ? सोनिया ने बीजेपी पर हमलावर रुख अपनाते हुए कहा कि किसानों के साथ इस सरकार ने धोखा किया, छात्रों को बोलने की आजादी नहीं है। बच्चियों के साथ अत्याचार किया जा रहा है। हमारे देश को निष्पक्ष और मजबूत संवैधानिक संस्थाओं की जरुरत है।

उन्होंने कहा कि चुनाव को ध्यान में रखकर समाज का बंटवारा किया जा रहा है, राजनैतिक विरोधियों को सरकारी संस्थाओं के जरिये निशाना बनाया जा रहा है। जो हमारी गंगा-जमुनी तहजीब को नष्ट करना चाहते हैं, हम उनका मुकाबला करेंगे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.