आमजन के लिए आमजन द्वारा

डीएम अग्रवाल ने की घोषणा – उजलो बणग्यो भीलवाड़ा जिलों

142.88 करोड़ रुपये की प्रोत्साहन राशि का डिजीटल भुगतान करके देश में नम्बर वन बना भीलवाड़ा

48

मूलचन्द पेसवानी/भीलवाड़ा – जिले के सभी गांव खुले में शौच से मुक्त हो गये हैं। स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण के तहत आज जिले की समस्त ग्राम पंचायतों में शत-प्रतिशत शौचालयों का निर्माण करवा कर सभी ग्राम पंचायतों को खुले में शौच से मुक्त किया जा चुका है।

जिला कलक्टर मुक्तानन्द अग्रवाल ने बताया कि जिले में कुल 4 लाख 87 हजार 146 शौचालयों का निर्माण करके जिले को शत प्रतिशत ओडीएफ कर दिया गया है। इसमें से 4 लाख 11 हजार 333 शौचालयों का निर्माण एपीएल श्रेणी के परिवारों के लिए तथा 76 हजार 13 शौचालयों का निर्माण बीपीएल श्रेणी के परिवारों के लिए करवाया गया है। इसी प्रकार 85 हजार 914 परिवारों द्वारा स्वयं के स्तर पर तथा शेष सभी शौचालयों का निर्माण स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण योजना के तहत करवाया गया है।

गौरतलब है कि जिले की पहली ओडीएफ होने वाली पंचायत समिति हुरड़ा है। अब जिले की सभी पंचायत समितियां ओडीएफ हो चुकी है।

शौचालयों के डीजीटल भुगतान में भीलवाड़ा देश में नम्बर वन

शौचालय निर्माण की प्रोत्साहन राशि का डिजिटली भुगतान करने के मामले में भीलवाड़ा का देश में प्रथम स्थान है। स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) के तहत ई-पंचायत आईएमपीएस तथा ईएफएमएस पोर्टल पर शौचालय निर्माण की प्रोत्साहन राशि एवं अन्य मदों का 142.88 करोड़ से अधिक का भुगतान करके भीलवाड़ा देश में प्रथम स्थान पर है। स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) कार्यक्रम के तहत 01 अप्रेल से लेकर अब तक डिजीटल भुगतान किया गया और समस्त भुगतान लाभार्थियों के खातो में भी हस्तान्तरित हो गया है।

जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी गजेन्द्र सिंह राठौड़ ने बताया कि वेबसाईट पर टेकनिकल समस्या होने के कारण अभी कुछ लाभार्थियों का भुगतान रोका गया है जल्द ही भुगतान प्रक्रिया पुनः प्रारम्भ कर दी जायेगी।

साल दर साल बढ़ता गया शौचालय निर्माण का आंकड़ा

जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में शौचालय निर्माण का आंकडा साल दर साल बढता गया और प्रशासन की मेहनत और जनता की जागरुकता ने भीलवाड़ा को खुले में शौच के अभिशाप से मुक्त कर दिया। वर्ष 2014-15 में 27 हजार 126 शौचालयों का निर्माण करवाया गया। वर्ष 2015-16 में 1 लाख 6 हजार 214 शौचालय बनवाये गये तथा 23 ग्राम पंचायतों को ओडीएफ किया गया। वर्ष 2016-17 में आवंटित लक्ष्य का 195 प्रतिशत रिजल्ट प्राप्त किया गया, इस वर्ष 2 लाख 38 हजार 6 शौचालय बनाये गये और 161 ग्राम पंचायतों को ओडीएफ बनाया गया।

वर्ष 2017-18 में 1 लाख 15 हजार 800 शौचालयों का निर्माण कर 200 ग्राम पंचायतों को खुले में शौच से मुक्त किया गया। इस प्रकार कुल 4 लाख 87 हजार 146 शौचालयों का निर्माण करवाकर सभी 384 ग्राम पंचायतों को ओडीएफ किया गया।

Leave A Reply

Your email address will not be published.