आमजन के लिए आमजन द्वारा

मजेरा में 15 फरवरी को होगा मूलनायक भगवान का मंगल प्रवेश

वौराठ के सबसे बड़े सप्त शिखर जैन मन्दिर की प्राण-प्रतिष्ठा का कार्यक्रम 24 अप्रेल को होना तय

37

आचार्य रविशेखर महाराज की निश्रा में विधि-विधान से होगी नवनिर्मित मन्दिर की प्राण प्रतिष्ठा

मुबारिक अजनबी/आमेट/राजसमन्द – कुभंलगढ़ क्षेत्र के मजेरा में करीब सात वर्षों से बन कर तैयार हुए वोराठ के सबसे बड़े सप्त शिखर जैन मन्दिर में 15 फरवरी को मूलनायक शांतिनाथ भगवान का मंगल प्रवेश पूर्ण-विधि विधान एवं अनुष्ठान के साथ प्रन्यास प्रवर विरल विजय महाराज एवं सूर्य शेखर महाराज की पावन निश्रा में सम्पन्न होगा। इसके लिए जैन श्वेताम्बर मूर्ति पूजक सकल संघ मजेरा ने तैयारियां पूरी कर ली है।

संघ के मंत्री फतह लाल हिंगड़ ने बताया कि नवनिर्मित मन्दिर का कार्य पिछले सात वर्षों से चल रहा है। इससे पूर्व इस जगह पर सम्प्रती राजा के हाथ का बनाया हुआ मन्दिर था। जिसकी प्रतिष्ठा आचार्य हिमाचल सूरिश्वर महाराज ने सन् 1998 में फागण सुद दसमी को कराई थी। जिसकी जगह अब पूर्णरूप से नया भव्य विशाल मन्दिर बन गया है। जिसमें सात शिखर एवं एक रंग मंडप है।

संघ के अध्यक्ष ओमप्रकाश मेहता ने बताया कि मन्दिर की भव्य प्राण प्रतिष्ठा का कार्यक्रम आगामी 24 अप्रेल को आचार्य रविशेखर महाराज की पावन निश्रा में पूर्ण विधी विधान एवं अनुष्ठान के साथ होना तय हुआ है। मेहता ने बताया कि इससे पूर्व 17 अप्रेल से अंजन शलाका का नौ दिवसीय कार्यक्रम प्रारंभ हो जाएगा। जिसमें प्रतिदिन पूजन, हवन एवं अन्य अनुष्ठान के अलावा प्रभू भक्ति का कार्य अविरल चलेगा। जैन धर्मावलम्बियों ने बताया कि यह उनके लिए एक उत्सव से कम नहीं है। इसके लिए मुम्बई, सूरत, अहमदाबाद, पूणे सहित बाहर शहरों में आजीविका कमाने वाले जैन समुदाय के लोगों ने प्रतिष्ठा में आने के लिए अग्रीम तैयारियां प्रारंभ कर दी है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com