आमजन के लिए आमजन द्वारा

उपवास पर बैठे राहुल, बीजेपी बोली – फास्ट नहीं, यह समाज को बांटने वाली फास्ट ट्रैक राजनीति

146

नई दिल्ली – दलितों पर हिंसा की घटनाओं के विरोध में राहुल गांधी के उपवास पर राजनीति तेज हो गई है। एक तरफ राहुल गांधी राजघाट में उपवास पर बैठे हैं तो दूसरी तरफ बीजेपी ने उन पर तीखा हमला बोला है। बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि राहुल गांधी फास्ट (उपवास) नहीं कर रहे बल्कि समाज को बांटकर फास्ट ट्रैक राजनीति करना चाहते हैं। कांग्रेस को दलित विरोधी करार देते हुए उन्होंने कहा, ‘दलितों के नाम पर उपवास का नाटक करने वाली कांग्रेस ने अपने शासनकाल में बाबासाहेब आंबेडकर को भारत रत्न नहीं दिया। यह काम 1989 में बीजेपी के समर्थन वाली सरकार ने किया था। उन्होंने कहा कि यहां तक कि कांग्रेस को संसद परिसर में आंबेडकर का एक चित्र तक लगाने में आपत्ति थी।’

पात्रा ने कहा, ‘कांग्रेस फास्ट ट्रैक राजनीति के लिए समाज को बांटने में जुटी है। गुजरात में पाटीदारों को भड़काने का काम किया और हरियाणा में निर्दोष जाटों को हिंसा की आग में झोंक दिया। इसी तरह मंदसौर में किसानों को हिंसा के लिए उकसाया।’ इससे पहले उपवास स्थल पर सिख दंगों के आरोपी जगदीश टाइटलर और सज्जन कुमार के पहुंचने पर विवाद खड़ा हो गया।

टाइटलर और सज्जन सिंह के उपवास स्थल पहुंचने पर निशाना साधते हुए संबित पात्रा ने कहा, ‘जिस तरह से सिख दंगे भड़काए गए थे और हजारों सिखों को जिंदा जलाया गया, वह हम सबने देखा है। आज उस दंगे के आरोपी ही शांति के प्रतीक महात्मा गांधी की समाधि राजघाट पहुंच गए।’ वहीं, बीजेपी आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय ने ट्वीट कर राहुल पर निशाना साधते हुए कहा कि राहुल जी अगर लंच हो गया हो तो, उपवास पर बैठ जाओ। मालवीय ने कहा कि इससे पता चलता है कि राहुल गांधी देर से उठते हैं।

‘मोदी राज में खतरे में है सामाजिक भाईचारा’
बीजेपी के हमलों का जवाब देते हुए कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने कहा, ‘मोदी सरकार में सांप्रदायिक सद्भाव और भाईचारे पर खतरा है। वे समाज को बांटना चाहते हैं। कांग्रेस का यह कर्तव्य है कि वह ऐसे तत्वों के खिलाफ संघर्ष करे।’ राहुल गांधी के साथ कांग्रेस के सीनियर लीडर मल्लिकार्जुन खड़गे, अशोक गहलोत, शीला दीक्षित और अजय माकन समेत तमाम नेता उपवास पर बैठे हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com