आमजन के लिए आमजन द्वारा

बुजुर्गों का सहारा बनेगी राष्ट्रीय वयोश्री योजना, सोमवार से शुरू होंगे शिविर

86

जयपुर – जिले में राष्ट्रीय वयोश्री योजना के तहत बीपीएल श्रेणी के 60 वर्ष से अधिक आयु के बुजुर्गों को निशुल्क चश्मा, श्रवण यंत्र, कृत्रिम दांत और चलने-फिरने में सहायता के उपकरणों का वितरण किया जाएगा। योजना के पहले चरण में ऐसे बजुर्गों का चिह्नीकरण करने के लिए सोमवार से पंचायत समिति, नगर पालिका और नगर निगम क्षेत्र में चिह्नीकरण शिविर प्रारम्भ होंगे। ये शिविर 16 जुलाई से 4 अगस्त तक अलग-अलग स्थानों पर आयोजित किए जाएंगे। दूसरे चरण में चिह्नीकरण शिविरों के बाद सहायक उपकरणों के वितरण के लिए अलग से वितरण षिविरों का आयोजन किया जाएगा।

जिला कलक्टर सिद्धार्थ महाजन ने इन शिविरों का व्यवस्थित रूप से आयोजन कर पात्र लोगों का राष्ट्रीय वयोश्री योजना में मौके पर चिह्नीकरण करने के लिए उपखण्ड अधिकारियों, विकास अधिकारियों सहित सम्बंधित विभागों के अधिकारियों को निर्देश जारी किए हैं।

यह रहेगा चिह्नीकरण शिविरों का कार्यक्रम
महाजन ने बताया कि जयपुर जिले में सोमवार को इस योजना के तहत प्रथम चरण में पंचायत समिति गोविन्दगढ़ और आमेर के कार्यालय परिसर में शिविरों का आयोजन होगा। मंगलवार, 17 जुलाई को पंचायत समिति शाहपुरा व झोंटवाड़ा, 18 जुलाई को पंचायत समिति पावटा व सांगानेर तथा 19 जुलाई को पंचायत समिति कोटपूतली व जालसू के कार्यालयों में चिह्नीकरण शिविरों को आयोजन होगा। इसी प्रकार पंचायत समिति जमवारामगढ़ एवं जयपुर नगर निगम के सांगानेर जोन में 20 जुलाई, पंचायत समिति बस्सी और नगर निगम के मानसरोवर जोन में 23 जुलाई, पंचायत समिति फागी व नगर निगम के सिविल लाईंस जोन में 24 जुलाई तथा पंचायत समिति चाकसू एवं नगर निगम के हवामहल पूर्व जोन के कार्यालयों में 25 जुलाई को शिविर आयोजित होंगे।

पंचायत समिति सांभर एवं नगर निगम के हवामहल पष्चिम जोन में 26 जुलाई, पंचायत समिति दूदू व नगर निगम के मोती डूंगरी जोन में 27 जुलाई, पंचायत समिति विराटनगर व नगर निगम के विद्याधर नगर जोन में 30 जुलाई तथा नगर पालिका फुलेरा व नगर निगम के आमेर जोन के कार्यालयों में 31 जुलाई को शिविर लगेंगे।

इसके अलावा नगर पालिका चौमू में एक अगस्त, नगरपालिका किशनगढ़ रेनवाल में 3 अगस्त और नगर पालिका जोबनेर के कार्यालयों में 4 अगस्त को शिविरों का आयोजन होगा। सभी षिविरों के आयोजन स्थल सम्बंधित पंचायत समिति, नगर निगम जोन एवं नगर पालिकाओं के कार्यालय रहेंगे।

यह है वयोश्री योजना का दायरा
राष्ट्रीय वयोश्री योजना में बीपीएल श्रेणी के 60 वर्ष से अधिक आयु के वृद्धजनों को सम्मानपूर्वक जीवन जीने के लिए चार प्रकार की शारीरिक दुर्बलताओं की श्रेणी में आठ प्रकार के सहायक उपकरण दिये जाएंगे। कम दृष्टि होने पर चष्मा, कम सुनाई देने पर श्रवण यंत्र, दांत गिर गए हो तो कृत्रिम दांत एवं कृत्रिम जबड़ा तथा चलने-फिरने से सम्बंधित दुर्बलता की स्थिति में छड़ी, वाॅकर, कोहनी वैषाखी तथा व्हील चेयर दी जाएगी। वृद्धजनों को इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए पहले चरण में आयोजित किए जा रहे चिह्नीकरण शिविरों में आधार कार्ड या पहचान पत्र के अलावा इंदिरा गांधी राष्ट्रीय वृद्धजन पेंशन योजना का पीपीओ या राज्य पेंशन योजना का पीपीओ और बीपीएल राशन कार्ड या आर्थिक स्थिति का प्रमाण पत्र लाना होगा।

एलमीको के विशेषज्ञ रहेंगे मौजूद
जयपुर जिले में आयोजित हो रहे राष्ट्रीय वयोश्री योजना के इन शिविरों में भारतीय कृत्रिम अंग निर्माण निगम (एलमीको) के विशेषज्ञ मौजूद रहकर जांच एवं चिह्नीकरण में अपनी सेवाएं देंगे। साथ ही सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग तथा महिला एवं बाल विकास विभाग सहित सम्बंधित विभागों के कार्मिक भी षिविरों के आयोजन एवं योजना के क्रियान्वयन मे भागीदार बनेंगे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.