आमजन के लिए आमजन द्वारा

सचिन पायलेट का छठा सवाल : महिला अपराध के मामले में शर्मनाक है प्रदेश की दशा फिर राजे को गौरव महसूस होता है ?

28

जयपुर – राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सचिन पायलट ने प्रदेश की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे से आज छठा सवाल पूछा है कि ‘‘साढ़े चार साल से प्रदेश में रोजाना 10 दुष्कर्म और एक गैंग रेप के मामले रिपोर्ट होने और महिला अपराध में देश में चौथे स्थान पर रहने के बाद भी क्या प्रदेश की महिला मुख्यमंत्री को गौरव महसूस होता है ?’’

पायलट ने कहा कि देश में राजस्थान दुष्कर्म मामलों में तीसरे स्थान पर और समग्र महिला अपराध के मामलों में चौथे स्थान पर है। उन्होंने कहा कि गत् साढ़े चार वर्षों में महिला उत्पीडऩ के बढ़ने से पूरा प्रदेश शर्मसार हुआ है। उन्होंने कहा कि प्रदेश की आबादी देश की कुल आबादी की 5 प्रतिशत है जबकि पिछले साढ़े चार साल में प्रदेश में महिलाओं के विरूद्ध कुल अपराधों में से राजस्थान में 8 प्रतिशत, कुल दुष्कर्मों में से राजस्थान में 9.5 प्रतिशत और कुल गैंग रेप में से राजस्थान में 18 प्रतिशत मामले हुए हैं जो एक महिला मुख्यमंत्री के शासन की संवेदनहीनता, लापरवाही और प्रशासनिक अक्षमता का जीता-जागता प्रमाण है। अब तो सर्वोच्च न्यायालय तक ने टिप्पणी कर दी है कि देश में 6 घण्टे में एक दुष्कर्म हो रहा है वहीं भाजपा शासन में तो राजस्थान में हर ढाई घण्टे में एक दुष्कर्म की घटना हो रही है जो भाजपा सरकार की सबसे बड़ी विफलता है जिसमें सरकार महिलाओं को सुरक्षा प्रदान करने और अपराधियों पर नकेल कसने में पूरी तरह से नाकाम रही है।

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने 2013 में अपने अनेक चुनावी कार्यक्रमों में जयपुर में महिलाओं की चैन खींचने के मामलों को लेकर बिना आंकड़ों के तीखी आलोचना की थी लेकिन आज चैन स्नेचिंग के मामलों पर लगाम लगाने में भाजपा सरकार पूरी तरह फेल साबित हुई है। क्राईम रिपोर्ट के अनुसार कांग्रेस सरकार के समय 5 वर्ष की अवधि में कुल 1250 मामले पूरे प्रदेश में चैन खींचने के रिपोर्ट हुए थे। जबकि भाजपा के चार साल में ही 1933 मामले पूरे प्रदेश में सामने आये जिनमें से 722 मामले अकेले जयपुर में हुए हैं। उन्होंने कहा कि डेल्टा मेघवाल प्रकरण में सरकार ने कांग्रेस के दबाव में आकर सीबीआई जॉंच की बात मानी थी, परन्तु वादाखिलाफी करते हुए दोहरी नीति अपनाई और स्थानीय पुलिस से मामले में चार्जशीट प्रस्तुत करवाकर सीबीआई जॉंच को ठण्डे बस्ते में डाल दिया जो भाजपा सरकार की महिला व दलित विरोधी सोच का सबसे बड़ा उदाहरण है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com