आमजन के लिए आमजन द्वारा

भीलवाड़ा की 7 सीटों पर ऐसे बैठी गणित

34

गंगापुर/भीलवाड़ा – राजस्थान विधानसभा चुनाव 2018 में भीलवाड़ा जिले की 7 सीटों पर कांग्रेस अच्छा प्रदर्शन नहीं कर सकी। कांग्रेस को यहां 7 में से महज 2 सीटों पर संतुष्ट होना पड़ा। भीलवाड़ा शहर सीट पर विट्ठलशंकर अवस्थी ने जीत हासिल की, आसींद सीट पर भाजपा के जब्बर सिंह सांखला अपने नजदीकी प्रतिद्वंद्वी मनीष मेवाड़ा को महज 154 से हराकर विजय हासिल कर पाए, माण्डगढ़ सीट पर विधायक विवेक धाकड़ को हराकर यूआईटी चैयरमेन व भाजपा प्रत्याशी गोपाल लाल शर्मा, जहाजपुर सीट पर कांग्रेस के धीरज गुर्जर को परास्त करते हुए भाजपा के गोपी चंद मीणा व शाहपुरा सीट पर कांग्रेस के महावीर प्रसाद को पीछे रखते हुए भाजपा के कैलाश चन्द्र मेघवाल ने विजय हासिल की। वहीं सहाड़ा-रायपुर विधानसभा सीट पर भाजपा के रूप लाल जाट को हराते हुए कांग्रेस के कैलाश त्रिवेदी ने तथा माण्डल विधानसभा सीट से भाजपा के कालू लाल गुर्जर को हराते हुए पूर्व मंत्री व कांग्रेस प्रत्याशी राम लाल जाट ने जीत हासिल की।

इस जिले की भीलवाड़ा, शाहपुरा, आसींद, माण्डल व सहाड़ा हॉट सीटें थी। भीलवाड़ा सीट पर कांग्रेस ने अनिल डांगी को टिकट दिया तो कांग्रेस के ओम नराणीवाल ने निर्दलीय ताल ठोक दी। वहीं 8 निर्दलीय प्रत्याशियों तथा एलजेपी, एसडीपीआई, बसपा व आप सहित 17 प्रत्याशी चुनावी मैदान में रहे। वोटों के बंट जाने का सर्वाधिक नुकसान अनिल डांगी को हुआ, जिससे भाजपा के विट्ठलशंकर अवस्थी 49,578 मतों से चुनाव जीत गए।

शाहपुरा सीट पर कांग्रेस से टिकट नहीं मिलने पर पूर्व राज्यमंत्री गोपाल केसावत ने कांग्रेस छोड़कर आप पार्टी के टिकट पर चुनाव लड़ा। इसी सीट पर कांग्रेस के बागी राजकुमार बैरवा ने भी निर्दलीय के रूप में चुनाव लड़ा। वहीं रालोपा से देबी लाल मेघवंशी भी मैदान में उतरे। एक तरह से बागियों व निर्दलीय के बीच में कांग्रेस के वोट बंट गए और भारी जन विरोध के बावजूद विधानसभा अध्यक्ष रहे भाजपा के कैलाश चन्द्र मेघवाल ने 74,542 मतों से विजय प्राप्त कर ली।

आसींद सीट पर इस बार कांग्रेस ने पूर्व में निर्दलीय चुनाव लड़ चुके हगामी लाल मेवाड़ा के पुत्र मनीष मेवाड़ा को टिकट दिया। वहीं इस सीट पर भाजपा ने जब्बर सिंह सांखला को उतारा। इस सीट पर रालोपा ने मनसुख सिंह को टिकट दिया। इनके सहित इस सीट पर 10 प्रत्याशी मैदान में थे। मनीष मेवाड़ा 70,095 मत ला पाए, जब्बर सिंह सांखला को 70,249 वोट मिले, वहीं 42,070 मत लाकर मनसुख सिंह तीसरे नम्बर पर रहे। मनीष मेवाड़ा व जब्बर सिंह सांखला के बीच मतगणना के आखिर तक कड़ी टक्कर हुई और अंततः महज 154 मतों से जब्बर सिंह सांखला विजयी हुए। आपको बता दे कि यहां 11 मत रिजक्ट हुए वहीं 2926 मतदाताओं ने नोटा पर वोट किया।

माण्डल सीट पर कांग्रेस के राम लाल जाट की कड़ी टक्कर कांग्रेस के ही बागी निर्दलीय उम्मीदवार प्रद्युम्न सिंह से हुई। राम लाल जाट को 59,645 मत मिले, वहीं प्रद्युम्न सिंह को 51,580 मत मिले। भाजपा के कालू लाल गुर्जर तीसरे नम्बर पर रहे, उन्हें 47,726 मत मिले। भाजपा के बागी निर्दलीय उम्मीदवार उदय लाल भड़ाना ने 23,147 मत हासिल किए। इस सीट पर 5 निर्दलीय उम्मीदवारों सहित बीएसपी के शिव लाल गुर्जर मैदान में थे लेकिन राम लाल जाट ने 8065 मतों से अपनी पार्टी से बागी हुए उम्मीदवार प्रद्युम्न सिंह को शिकस्त देते हुए जीत दर्ज कराई।

सहाड़ा-रायपुर विधानसभा सीट पर कांग्रेस के कैलाश चंद्र त्रिवेदी ने भाजपा के रूप लाल जाट को 7006 मतों से चुनाव हराया। इस सीट पर भी 10 प्रत्याशी थे। यहां भाजपा का खेल लादू लाल पितलिया ने बिगाड़ा। लादू लाल पितलिया पूर्व भाजपा मण्डल अध्यक्ष है। भाजपा से टिकट की प्रबल दावेदारी कर रहे थे लेकिन भाजपा ने विगत 4 चुनावों से लगातार टिकट की मांग कर रहे रूप लाल जाट को टिकट दिया। रूप लाल जाट को 58414 मत मिले, वहीं लादू लाल पितलिया को 30,573 मत मिले। 450 पोस्टल मतों सहित कैलाश त्रिवेदी को कुल 65,420 मत मिले।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com