आमजन के लिए आमजन द्वारा

विद्यालय बहिष्कार मामला : 5वें दिन भी जारी रहा प्रदर्शन, ग्रामीणों ने अपने स्तर पर की पढ़ाई की व्यवस्था

विधानसभा अध्यक्ष ने दिया स्थानान्तरण निरस्त करवाने का आश्वासन

10

मूलचन्द पेसवानी/शाहपुरा/भीलवाड़ा – जिले के शाहपुरा ब्लॉक की कनेछनखुर्द पंचायत के गणेशपुरा स्थित राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय में बुधवार को पांचवें दिन भी विद्यार्थियों का स्कूल बहिष्कार जारी रहा। आज सुबह स्कूल खुलने पर विद्यार्थी अपने बैग लेकर पहुंचे परंतु ग्रामीणों के साथ प्रदर्शन व नारेबाजी करने के बाद गांव के मंदिर में एकत्र हो गये। ग्रामीण व विद्यार्थी स्कूल से स्थानांतरित शिक्षक गजेंद्र सिंह राणावत को पुनः पदस्थापित करने की मांग कर रहे है। शुरू के तीन दिन तालाबंदी की थी पर उपखंड अधिकारी के आकर ताला तोड़ देने से आक्रोशित विद्यार्थियों ने स्कूल से टीसी कटाने के प्रार्थना पत्र कार्यवाहक प्रधानाध्यापिका को सौंप दिये। आज 21 विद्यार्थियों ने अपनी टीसी एप्लीकेशन सौंपी है।

बुधवार को ग्रामीण व विद्यार्थियों ने स्कूल के बाहर पांचवें दिन प्रदर्शन करने के बाद मंदिर में गांव के बुजुर्ग खनीराम कुमावत की अगुवाई में बैठक की। बैठक में सर्वसम्मति से शिक्षक का स्थानांतरण रद्द न होने तक आंदोलन को जारी रखने का निर्णय लिया गया तथा तब तक विद्यार्थियों की पढाई खराब न हो इसके लिए वैकल्पिक व्यवस्था शुरू करने की अनूठी पहल की गई। हाथों हाथ कल्याण कुमावत के आवासीय मकान में वैकल्पिक स्कूल प्रांरभ किया गया तथा गांव के शिक्षित युवक नारू लाल बलाई व नारायण कुमावत ने वहां पर अध्यापन प्रारंभ कर दिया।

गांव के बुर्जुग खनीराम कुमावत ने कहा है कि स्कूल मामले में पूरा गांव एकजुट है। आज प्रदर्शन में महिलाएं भी आयी है। अब तक कुल 68 विद्यार्थी अपनी टीसी कटाने की एप्लीकेशन दे चुके है। टीचर गजेंद्र सिंह को वापस नहीं लगाने तक आंदोलन जारी रहेगा।

कार्यवाहक प्रधानाध्यापिका सपना टेलर ने कहा है कि कुछ विद्यार्थियों ने टीसी के आवेदन दिये है परंतु शिक्षा विभाग के अधिकारियों के निर्देश पर उनके अभिभावकों से समझाईश की जा रही है। आज भी स्कूल में एक भी विद्यार्थी के नहीं आने से शिक्षण कार्य नहीं हो सका है।

उधर पंचायत समिति के उपप्रधान बजरंग सिंह राणावत ने आज जयपुर में विधानसभा अध्यक्ष व शाहपुरा विधायक कैलाश मेघवाल से संपर्क कर इस मामले की विस्तार से जानकारी दी तो मेघवाल ने शिक्षक का स्थानांतरण निरस्त कराने का आश्वासन दिया है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.