आमजन के लिए आमजन द्वारा

महिला दिवस व मनरेगा मेला आयोजित

महिलाओं की जागरूकता के सकारात्मक परिणाम आये

91

मूलचन्द पेसवानी/भीलवाड़ा – भीलवाड़ा जिले की जहाजपुर पंचायत समिति की शक्करगढ़ पंचायत मुख्यालय पर मंगलवार को फाउंडेशन फॉर इकोलॉजिकल सिक्योरिटी (एफईएस), भीलवाड़ा डेयरी, पंचायत समिति, राजीविका के तत्वावधान में महिला दिवस व मनरेगा मेला का आयोजन समारोह पूर्वक किया गया। इसमें ग्रामीण अंचल की महिलाओं ने उत्साह के साथ भाग लिया और प्रतियोगिताओं में प्रदर्शन किया।

इस दौरान आरएएस (सेटलमेंट आॅफिसर) निमिषा गुप्ता, डिप्टी चंचल मिश्रा, जहाजपुर एसडीओ करतार सिंह, बीडीओ अर्चना मोर्य, वरिष्ठ पत्रकार प्रमोद तिवाड़ी, शक्करगढ़ के सरपंच किशोर शर्मा, जिप सदस्य हेम सुल्तानिया, डेयरी प्रबंधक भेरूलाल जाट, आशा शर्मा, एफईएस के शांतनु सिन्हा राय व कुलदीप सिंह, पिंकी सोनी की मौजूदगी में आयोजित मेले के दौरान पर्यावरण जागरूकता, महिला अधिकारों व उनकी सुरक्षा, चरागाह सरंक्षण, डेयरी उद्योग को बढ़ावा देने के बारे में विचार विमर्श किया गया। इस दौरान महिलाओं की प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। जिसमें विजेताओं को पारितोषिक भी दिया गया।

आरएएस निमिषा गुप्ता व डिप्टी चंचल मिश्रा ने कहा कि महिलाओं की जागरूकता के देश में सकारात्मक परिणाम आये है। केंद्र व राज्य सरकार की ओर से महिलाओं के हितों के लिए सभी संभव प्रयास किये है। महिलाओं को घर के कार्य के साथ परिवार के उत्थान के लिए अब आगे आकर बढ़ चढ़ कर हिस्सा लेना होगा। इस मौके पर अन्य वक्ताओं ने कहा कि पर्यावरण के प्रति समुदाय एवं व्यक्ति विशेष में जागरूकता से ही परिवर्तन लाया जा सकता है। महिलाओं को विभिन्न योजनाओं से जुड़कर विकास के पथ पर अग्रसर होने का आह्वान किया गया। महिलाओं को जल, जंगल, जमीन, जानवर जन के विकास के लिए नरेगा योजना से जुड़ने की बात कही गई। बीरबल पंवार एंड पार्टी की ओर से जागरूकता के लिए विषयक नाटक व नृत्य के माध्यम से महिलाओं को बच्चों के स्वास्थ्य टीकाकरण की जानकारी दी गई।

मनरेगा मेले में मनरेगा श्रमिकों को एफईएस के प्रतिनिधियों ने अपने अधिकार व कर्तव्यों के बारे में बताया। इस मौके पर महिलाओं के द्वारा मटकी दौड़, साफा बंधेज, रस्सा कस्सी आदि प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया। विजेता महिलाओं को पुरुस्कार प्रदान किए गए।

सरपंच किशोर कुमार शर्मा ने बताया कि ग्राम पंचायत हर वर्ष अपनी सहयोगि कार्यकारी संस्था के साथ मनरेगा मेले का आयोजन करती है, जिससे मनरेगा श्रमिकों को कार्य मे आ रही बाधाओं का समाधान कर महिलाओं को जागरूक किया जाता है।

समारोह में ईटूंदा सरपंच इन्द्रा देवी, धोड़ सरपंच आरती देवी, बिलेठा सरपंच मीरादेवी मीणा, बरोदा सरपंच निरमादेवी की अगुवाई में शक्करगढ़ के अलावा वहां की महिलाएं भी मौजूद थी। समारोह में शक्करगढ़ पंचायत क्षेत्र में एफईएस की ओर से चलाये जागरूकता अभियान के मिले आशानुकल परिणामों की जानकारी कुलदीप सिंह ने प्रस्तुत की। मेले के दौरान नरेगा योजना, चरागाह विकास, मेड़बंदी, पशुधन विकास, पशु संरक्षण, डेयरी उद्योग को बढ़ावा देने के बारे में महिलाओं को विस्तार से जानकारी मुहैया करायी गयी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.