Breaking News

Home » प्रदेश » जसवंतगढ़ में गुरूवार को होगा महाराणा प्रताप की प्रतिमा का अनावरण, इस तरह लगाए जा रहे है आरोप-प्रत्यारोप

जसवंतगढ़ में गुरूवार को होगा महाराणा प्रताप की प्रतिमा का अनावरण, इस तरह लगाए जा रहे है आरोप-प्रत्यारोप

Gogunda/Udaipur – गुरूवार को समीवर्ती जसवंतगढ़ तिराहे पर महाराणा प्रताप की प्रतिमा स्थापित कर अनावरण किया जाएगा। उससे पहले आज सुबह गोगुंदा के राजतिलक स्थल से जसवंतगढ़ तिराहे तक वाहन रैली निकाली जाएगी व रात 7 बजे से देर रात तक भजन संध्या का आयोजन किया जाएगा, जिसमें प्रसिद्ध गायक कलाकार छोटू सिंह रावणा महाराणा प्रताप के जीवन से जुड़े शौर्यगान प्रस्तुत करेंगे। वहीं गुरूवार सुबह मूर्ति का अनावरण कर भोजन प्रसाद वितरण किया जाएगा। इंद्रजीत सिंह सिसोदिया ने बताया कि महाराणा प्रताप की प्रतिमा स्थापित करने के लिए भामाशाहों से उसे करीब 14 लाख रूपए प्राप्त हुए, इनमें से 10 लाख रूपए की प्रतिमा खरीदी गई और डेढ़ लाख रूपए खर्च कर सर्किल पर स्टेण्ड तैयार करवाया। उन्होंने बताया कि अनावरण कार्यक्रम में सूरजकुंड के संत अवधेशानन्द महाराज को आमंत्रित किया गया है और अनावरण के बाद 10 हजार लोगों के लिए भोजन की व्यवस्था की गई।

भाजपा युवा मोर्चा के नांदेशमा मण्डल अध्यक्ष ने उठाए सवाल, अधिकारियों ने ली बैठक

भाजपा के युवा मोर्चा के नान्देशमा मण्डल अध्यक्ष अशोक जोशी ने एसडीएम को ज्ञापन सौंपकर बताया कि महाराणा प्रताप की प्रतिमा के लिए जिन भामाशाहों से आर्थिक सहयोग किया है उनके द्वारा प्रतिमा का अनावरण करवाया जाए। इससे पहले जोशी ने सोशल मीडिया पर पोस्ट कर पूर्व ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष नारायण पालीवाल पर प्रतिमा अनावरण कार्यक्रम में राजनीति करने और राजनीतिक लोगों से प्रतिमा का अनावरण करवाने की बात कहकर विरोध प्रकट किया। नारायण पालीवाल गोगुंदा के पूर्व ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष है। अशोक जोशी की शिकायत के बाद मंगलवार को गिर्वा डिप्टी भूपेंद्र सिंह, एसडीएम हनुमान सिंह राठौड़ ने गोगुंदा पुलिस थाने में बैठक ली। इस दौरान तहसीलदार रविन्द्र सिंह चौहान व थानाधिकारी कमलेंद्र सिंह मौजूद रहे। बैठक में शिकायतकर्ता अशोक जोशी को बुलाया गया, वो अन्य लोगों के साथ थाने में पहुंचे। यहां उन्होंने बताया कि अनावरण कार्यक्रम में राजनीति की जा रही है, भामाशाहों को दरकिनार कर कांग्रेस के नेताओं से अनावरण करवाया जा रहा है। ऐसा किया गया तो वे विरोध प्रदर्शन करेंगे। साथ मांग की कि अनावरण या तो भामाशाहों द्वारा या संत अवधेशानन्द द्वारा करवाया जाए। जानकारी के अनुसार अधिकारियों ने प्रतिमा के चंदा एकत्र करने वाले इंद्रजीत सिंह सिसोदिया को बुलाया और एकत्र हुई राशि व भामाशाहों के बारे में जानकारी ली।

जसवंतगढ़ के पूर्व सरपंच नारायण पालीवाल ने कहा कि हमारे गांव के लोगों में किसी प्रकार का विरोध नहीं है। भामाशाहों से मिले आर्थिक सहयोग से महाराणा प्रताप की प्रतिमा खरीदी गई। अब ग्राम पंचायत द्वारा अनावरण कार्यक्रम करवाया जा रहा है, जिसमें गांव के अलग-अलग लोगों द्वारा पाण्ड़ाल, साउण्ड, भोजन इत्यादि की जिम्मेदारी ली गई है। भाजपा के लोगों को महाराणा प्रताप की प्रतिमा से कोई वास्ता नहीं है, उन्हें तो बस मंच पर कुर्सी चाहिए इसलिए राजनीति कर रहे है।

dailyrajasthan
Author: dailyrajasthan

Facebook
Twitter
WhatsApp
Telegram

Leave a Comment

Realted News

Latest News

राशिफल

Live Cricket

क्या आप \"Daily Rajasthan \" की खबरों से संतुष्ट हैं?